ब्रिस्बेन पहुँची टीम इंडिया , परेशानियों का करना पड़ रहा सामना

Team India reached Brisbane, facing troubles

ब्रिस्बेन : टीम इंडिया ब्रिस्बेन तो पहुंच गयी है लेकिन अपने होटल में परेशानी में फंस गयी है। होटल में कोई रूम सर्विस नहीं है , हाउसकीपिंग नहीं है, खिलाड़ियों को पूल का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं है और वे अपने कमरों में कैद होकर रह गए हैं।
भारतीय खिलाड़ियों का मूवमेंट होटल और गाबा मैदान के बीच तक सीमित रहेगा। हालांकि वे टीम रूम में मिल सकते हैं। खिलाड़ियों को अपने बेड खुद तैयार करने होंगे, अपने टॉयलेट खुद साफ़ करने होंगे, रूम सर्विस नहीं होगी, केवल एप्स पर खाना आर्डर किया जा सकता है , खिलाड़ी स्विमिंग पूल का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।
भारतीय टीम को न केवल 15 जनवरी से शुरू होने वाले चौथे और आखिरी टेस्ट के लिए अपने चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझना पड़ेगा बल्कि होटल की हाउसकीपिंग की समस्या से भी जूझना होगा। दोनों टीमें मंगलवार दोपहर ब्रिस्बेन पहुंचीं।
भारत कई कारणों से ब्रिस्बेन का दौरा करने के लिए तैयार नहीं था और सबसे बड़ा कारण यह था कि मैदान के बाहर उन्हें अपने होटल के कमरों तक सीमित रहना होगा। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बीसीसीआई को लम्बी बातचीत के बाद आश्वासन दिया था कि भारतीय टीम को सख्त क्वारंटीन का सामना नहीं करना पड़ेगा लेकिन अब स्थिति कुछ बदली दिखाई दे रही है।
ब्रिस्बेन आने के बाद भारतीय टीम को पता चला कि होटल में हाउसकीपिंग नहीं है। टीम सदस्यों का कहना है कि उन्हें पहले ऐसा नहीं बताया गया था। सिडनी में टीम को घूमने की आजादी नहीं थी लेकिन होटल में रूम सर्विस और हाउसकीपिंग की सुविधाएं थीं। कुछ खिलाड़ी अपने परिवार के साथ यात्रा कर रहे हैं और उनके लिए परेशानी ज्यादा है। खिलाड़ियों को अपनी रिकवरी के लिए पूल की जरूरत होती है लेकिन ब्रिस्बेन में टीम को यह सुविधा नहीं दी गयी है।