हिमाचल प्रदेश के पूर्व डीजीपी डॉ. अश्वनी कुमार का अंतिम संस्कार

dr-ashwani-kumar-former-dgp-of-himachal-pradesh-funeral

शिमला : मणिपुर तथा नागालैंड के पूर्व राज्यपाल एवं हिमाचल प्रदेश के पूर्व डीजीपी डॉ. अश्वनी कुमार का आज राजकीय सम्मान के साथ संजौली शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किया गया।
इस मौके पर ऊर्जा मंत्री सुखराम चैधरी, पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू, पूर्व मंत्री जीएस बाली, मुख्य सचिव अनिल खाची और डीजीपी संजय कुंडू सहित जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मौजूद रहे।
इससे पहले गुरुवार सुबह आईजीएमसी में उनका पोस्टमार्टम हुआ जिसके बाद शव परिजनों को सौंपा गया । शव को पहले उनके घर लाया गया और फिर संजौली स्थित श्मशान घाट पर ले जाया गया।
उल्लेखनीय है कि डाॅ कुमार हिमाचल के डीजीपी भी रहे हैं। बुधवार देर शाम को उनका शव कमरे में फंदे से लटका बरामद हुआ था। इसके बाद रात को फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंच कर साक्ष्य जुटाए। उनके नाम का सुसाइड लेटर भी बरामद हुआ है, जिसकी जांच की जा रही है।
बताया जा रहा है कि अश्विनी कुमार पार्किंसन नामक रोग से भी परेशान थे। वे अपनी बीमारी से तंग आ गए थे। साइड नोट में उन्होंने इसका जिक्र किया है और लिखा है कि वे परिवार पर बोझ नहीं बनना चाहते। उनके सुसाइड नोट में अंगदान करने की भी इच्छा जताई थी।
प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक अश्विनी कुमार के निधन पर शोक व्यक्त किया है, जिनका बुधवार को शिमला के ब्राॅकहस्र्ट स्थित अपने निवास स्थान पर निधन हो गया। वह नागालैंड के राज्यपाल और सीबीआई के निदेशक भी रहे ।
राज्यपाल ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अश्विनी कुमार ने पूरी निष्ठा व समर्पण के साथ अपनी सेवाएं प्रदान कीं जिसके लिए प्रदेश के लोग उन्हें सदैव याद रखेंगे। पूर्व पुलिस महानिदेशक और नागालैंड के पूर्व राज्यपाल एवं पूर्व सीबीआई डायरेक्टर रहे डा0 कुमार के असामयिक मृत्यु की खबर सुनकर दुःखी हूं।

dr-ashwani-kumar-former-dgp-of-himachal-pradesh-funeral
उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति तथा शोक संतप्त परिवार को इस अपूर्णीय क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना की है।